Digital Wellbeing | डिजिटल वेल्बीइंग क्या है, मॉनिटर करें अपने फ़ोन के सभी ऐप्प को

Digital Wellbeing : डिजिटल वेल्बीइंग से आसानी से पता लगायें कि आप अपने फ़ोन को दिन में कितनी बार इस्तेमाल करते हैं कितने ऐप्प को कितने समय के लिए इस्तेमाल करते हैं एक दिन में कितने नोटिफिकेशन आते हैं और भी बहुत कुछ।

Contents hide

दोस्तों आज हम Digital Wellbeing मोबाइल एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बारे में बात करने जा रहे हैं। आजकल यह सॉफ्टवेयर आपके मोबाइल में by default install मिल जायेगा जिसे आपने अपने मोबाइल की सेटिंग मेनू में देखा होगा। क्या आप जानते हैं इसका क्या उपयोग होता है। आज हम डिजिटल वेल्बीइंग सॉफ्टवेयर के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी आपके साथ साझा करना चाहते हैं। आसान सी भाषा में यदि इसे समझना हो तो हम यह कह सकते हैं कि – दैनिक डिजिटल आदतों पर एक नजर डालने का जरिया। यह एक एप्लीकेशन है जिसकी मदद से आप अपने फ़ोन में यह ट्रैक कर सकते हैं कि आपने अपने फ़ोन को कितने देर के लिए इश्तेमाल किया है, आपको कितने नोटिफिकेशन्स प्राप्त हुए है, आपने कितनी बार अपने फ़ोन को लॉक व अनलॉक किया है, कितना समय आपने किस-किस एप्लीकेशन पर बिताया है और भी बहुत कुछ। इससे आप यह पता लगा सकते हैं कि आप अपने फ़ोन में किस एप्लीकेशन पर सबसे अधिक समय व्यतीत करते हैं तथा यह मूल्याङ्कन कर सकते हैं कि आपका बिताया हुआ समय क्या सही है या नहीं।

Digital Wellbeing application : यह सॉफ्टवेयर आपके लिए एक ऐसा डैशबोर्ड तैयार करता है जिसमें आपके द्वारा पुरे दिन भर में उपयोग किये गए सभी ऐप्प का विवरण होता है।

Digital Wellbeing क्या है –

यह एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो आपके मोबाइल में चलने वाले सभी Apps को ट्रैक करके आपके लिए एक ऐसा प्लेटफार्म तैयार करता है जिससे आप यह पता लगा सकते हैं कि आपने अपने फ़ोन में आपने कब-कब और कितनी देर के लिए कौनसा एप्लीकेशन इश्तेमाल किया है। आसान सी भाषा में समझें तो इसका मतलब है यह है कि आपके फ़ोन में कौनसे ऐप्प पर आपने कितना समय व्यतीत किया है।

वैसे तो डिजिटल वेल्बीइंग आजकल सभी फ़ोन में By Default Installed होता है, परन्तु यदि आपके फ़ोन में यह इनस्टॉल नहीं किया हुआ है तो आप इसे प्ले स्टोर से फ्री में इनस्टॉल कर सकते हैं। यदि आपके फ़ोन में यह पहले से इनस्टॉल किया हुआ है तो यह आपके फ़ोन की सेटिंग में मिल जायेगा अन्यथा आप इसे प्ले स्टोर से इनस्टॉल कर लेवें।

Read also : एक मोबाइल नंबर से चार व्हाट्सप्प कैसे चलाएं।

Digital Wellbeing का उपयोग कैसे करें –

यदि यह सॉफ्टवेयर आपके फ़ोन में इनस्टॉल नहीं किया हुआ है तो आप इसे पहले डाउनलोड कर लेवें –

यदि यह सॉफ्टवेयर आपके फ़ोन में पहले से इनस्टॉल किया हुआ है तो आप इसे अपने फ़ोन की सेटिंग में जाकर खोलें –

जैसे ही आप इसे खोलते हैं आपके सामने एक डैशबोर्ड खुलकर आएगा जिसमें आप यह देख सकते हैं कि आपने आज किन-किन ऐप्प्स को कितने समय के लिए उपयोग में लिया है। तथा साथ में आज आपके फ़ोन को आपने कुल कितने समय के लिए उपयोग में लिया है यह भी दिखाई देता है जैसे ही आप थोड़ा सा नीचे स्क्रॉल करते हैं तो आप यह भी देख सकते हैं कि आपने आज अपने फ़ोन को कुल कितने बार अनलॉक किया है व आज कुल कितने नोटिफिकेशन्स प्राप्त किये हैं।

यहाँ पर आप डैशबोर्ड के बीच में क्लिक करते हैं तो आपके सामने पिछले सात दिनों का एक ग्राफ बनकर तैयार हो जायेगा जिससे आप यह तुलना कर सकते हो कि आपने पिछले सात दिनों में कब सबसे अधिक व सबसे कम अपने फ़ोन को इस्तेमाल किया है तथा उस विशेष दिन में अधिकतम उपयोग में लिए गए ऐप्प्स को भी नीचे स्क्रॉल करके देख सकते हो।

यहाँ पर आप ऊपर Screen time पर क्लिक करके अपने हिसाब से भी फ़िल्टर लगाकर भी प्रत्येक दिन का अलग से डैशबोर्ड तैयार कर सकते हो। इसमें आपको यहाँ पर कुल तीन फ़िल्टर मिलते हैं।

इसमें आप Notifications received फ़िल्टर लगाकर यह भी ट्रैक कर सकते हैं कि आपने किसी विशेष दिन में कुल कितने व किस-किस ऐप्प से नोटिफिकेशन्स प्राप्त किये हैं।

इसमें आप Times opened फ़िल्टर लगाकर यह भी ट्रैक कर सकते हैं कि आपने किसी विशेष दिन में किन-किन ऐप्प्स को कितनी बार खोलकर उपयोग में लिया है तथा यह भी पता लगा सकते हो कि आपने अपने फ़ोन को कुल आज कितनी बार अनलॉक किया है।

आप यहां पर किसी भी ऐप्प पर क्लिक करके उसकी पिछली हिस्ट्री भी देख सकते हैं तथा उस पर टाइमर भी सेट कर सकते हैं।

टाइमर का मतलब है कि आप किसी भी ऐप्प पर यह तय कर सकते हैं कि आपको इस ऐप्प को एक दिन में कितने समय के लिए उपयोग में लेना है। टाइमर से वह विशेष ऐप्प उतने समय के लिए ही काम करेगा जितना आपने उसे जितने समय के लिए अनुमति दी है। यदि आप किसी ऐप्प को सामान्य से ज्यादा इश्तेमाल करते हैं तथा आपको उस ऐप्प की लत है तो आप उस पर टाइमर लगाकर छोड़ सकते हो ताकि उस निश्चित समय के बाद वह ऐप्प अगले दिन तक काम करना बंद कर देगी।

जब आप किसी भी विशेष ऐप्प पर टाइमर सेट कर देते हैं तो उस निश्चित समय के बाद वह ऐप्प स्वत: ही ब्लॉक हो जायेगा अगले दिन तक के लिए। इसका मतलब यह है कि आपने आज इस ऐप्प को अपने निर्धारित समय तक उपयोग ले लिया है अब आप इसे कल ही इश्तेमाल कर पाएंगे। वैसे आप जब चाहें उस ऐप्प पर सेट किया गया टाइमर हटा भी सकते हैं।

आप किसी भी विशेष ऐप्प पर टाइमर सेट कर देते हैं तथा उसका निर्धारित समय पूर्ण हो जाता है तो वह ऐप्प उसके बाद खुलता नहीं है तथा उस ऐप्प के लोगो का रंग भी ब्लैक & व्हाइट हो जाता है। आप यदि इसे इश्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके टाइमर को डिलीट कर सकते हैं।

यदि आपको ध्यान केंद्रित करने के लिए समय चाहिए, तो आप ध्यान भंग करने वाले ऐप्स को उनका चयन करके रोक भी सकते हैं और उनके नोटिफिकेशन्स को छिपा सकते हैं, अर्थात आपको उन ऐप्प्स के नोटिफिकेशन्स अब परेशान नहीं करेंगे।

Digital Wellbeing App के माध्यम से आप Parental controls भी कर सकते हो। इसका Parental controls भी बहुत अच्छा है जिससे आप अपने बच्चों पर नजर रख सकते हो, जिसे हम अगली नई पोस्ट में पढ़ेंगे।

Like us on FB: Daily Tech Updates

Join our WhatsApp group for latest posts – Daily Tech Updates

यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें जरूर बताएं। इसमें किसी भी प्रकार की कोई समस्या हुई है तो हमसे संपर्क करें। और भी ऐसी पोस्ट के लिए हमें सब्सक्राइब करना न भूलें। और हाँ, हम व्हाट्सप्प पर भी हैं। व्हाट्सप्प पर लेटेस्ट पोस्ट पाने के लिए व अन्य किसी भी समस्या व सुझाव के लिए सम्पर्क करें।

close
Daily Tech Updates

Daily Tech Updates में आपका स्वागत है!

हमसे जुड़ने के लिए और किसी भी प्रकार की News को Miss न करने के लिए सब्सक्राइब करें -

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.

2 thoughts on “Digital Wellbeing | डिजिटल वेल्बीइंग क्या है, मॉनिटर करें अपने फ़ोन के सभी ऐप्प को”

  1. Digital युग मे इस एप्पलीकेशन से digital बीमारी से बचा जा सकता हैं।

    Reply

Leave a Comment